Uttarakhand Tourism (उत्तराखण्ड पर्यटन)

thumbnail

Indians have a long history of travelling, trading and establishing settlements abroad. भारत में विभिन्न संस्कृतियों के लोग समय-समय पर विभिन्न उद्देश्यों के साथ आते रहे हैं। बौद्ध, अरबी, मुस्लिम, अंग्रेज आदि व्यापार तथा विकास के लिए भारत के कोने कोने में अपने पैर जमातें रहे हैं। इसी के साथ कई नये पर्वतों, पहाडियों, झीलों, तालों की खोज की शुरुआत हुई, साथ ही प्रादुर्भाव हुआ शिखरों पर शहरों की स्थापना का। मसूरी, नैनीताल, लैंसडाउन, रानीखेत इसके अच्छे उदाहरण हैं।

उत्तराखण्ड में वर्षभर तीर्थाटन एवं पर्यटन के लिए देश विदेश से लाखों लोग आते हैं। भारत के चार प्रमुख तीर्थों में से एक ‘बद्रीनाथ’ उत्तराखण्ड में ही स्थित है।

इसके अतिरिक्त भी यहाँ अनेक तीर्थस्थल एवं सैकड़ों प्राकृतिक स्थल अपने मनोरम सौंदर्य से अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर सैलानियों के आकर्षण का केंद्र हैं। वर्तमान में आधुनिक सुविधाओं के कारण इन पर्यटक स्थलों तक पहुँचना और भी आसान हो गया है। कुछ ही क्षेत्र बचे हैं, जहाँ सुविधाओं का अभाव है, किन्तु ऊर्जा और उत्साह से भरे हुये पर्यटक दुर्गम स्थलों पर पहुँचकर प्रकृति का आनन्द ग्रहण करते रहते हैं।

blogger, traveler, trekker, writer, photographer, नमस्ते, फ्यूंली ब्लाॅग fyunli.in में आपका स्वागत करता हूँ..

One thought on “Uttarakhand Tourism (उत्तराखण्ड पर्यटन)

Leave a Reply

Back To Top
%d bloggers like this: